यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना 2020: प्रवासी मजदुर लोन स्कीम

यूपी बाबासाहेब अंबेडकर रोजगार योजना, २०२० प्रवासी मजदूर ऋण योजना आवेदन प्रक्रिया, यूपी बाबासाहेब अंबेडकर रोजगार योजना, UP Babasaheb Ambedkar Rojgar Protsahan Yojana, Migrant Workers Loan Scheme, यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना: प्रवासी मजदुर लोन स्कीम;- सरकार जल्द ही उत्तर प्रदेश में प्रवासी मजदूरों के लिए एक नई योजना शुरू करने जा रही है। इस योजना का पूरा नाम बाबा साहेब अंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना 2020 रखा गया है। इस योजना के तहत, राज्य में आने वाले प्रवासी मजदूरों को रोजगार की सुविधा प्रदान करने के लिए एक लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कोरोना वायरस महामारी के कारण हजारों करोड़ों लोग अपनी नौकरी खो चुके हैं। इसका सबसे ज्यादा असर मजदूरों, दिहाड़ी मजदूरों और छोटे कामगारों पर हुआ है।

सबसे बड़ी समस्या उस व्यक्ति के लिए उत्पन्न हुई है जो दैनिक कामकाजी व्यक्ति है। क्योंकि ऐसे परिवार दिन की तैयारी करते हैं और उसी ध्यान के साथ अपने जीवन को बनाए रखते हैं। उनके पास कोई अतिरिक्त धन या संसाधन नहीं होते हैं ताकि वे अपना जीवन आसानी से जी सकें। इसलिए, ऐसे प्रवासी मजदूरों को अपना काम छोड़कर अपने गाँव वापस जाना पड़ रहा हैं। हमने इसे कोरोना महामारी के संकट में देखा है,  जहां विभिन्न राज्यों में काम कर रहे प्रवासी मजदूरों को अपने घरों में वापस आना पड़ रहा हैं। क्योंकि उनके पास लॉक डाउन में कोई काम नहीं है।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना
अम्बेडकर रोजगार योजना

Contents

बाबा साहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना (यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना)

सरकार ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न राज्यों में वापस आने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए बाबा साहेब अंबेडकर रोज़गार योजना के तहत रोज़गार देने की सुविधा की घोषणा की है। इस योजना के तहत राज्य के लगभग 100000 लोग लाभान्वित होंगे। सबसे पहले, हम इस योजना के बारे में जानते हैं कि यह योजना क्या है और यह कैसे काम करती है? भाइयों बाबा साहेब अंबेडकर रोजगार योजना के तहत, प्रवासी मजदूरों को बहुत ही आसान ब्याज दरों पर सरकार द्वारा स्वरोजगार के लिए 1.5 लाख से 2 लाख रुपये का ऋण दिया जाएगा।

इस योजना में, सरकार ने किसानों के ऋण पर 35% से 50% तक की सब्सिडी देने का लक्ष्य रखा है जो कि स्वरोजगार के लिए लिया गया था। इस योजना के पहले चरण में, लगभग 10,000 लोगों को योजना के तहत लाभ दिया जाएगा। जिसमें लगभग 50% लाभार्थी अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से जुड़े होंगे। विकलांग लोगों के लिए इस योजना में 5% आरक्षण भी रखा गया है। पहले चरण को शुरू करने के लिए गए इरादे से इस योजना के तहत 50 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

In this Ambedkar Rojgar Yojana scheme, the government has targeted to give subsidy ranging from 35% to 50% on the loan of farmers which was taken for self-employment. In the first phase of the scheme, about 10,000 people will be given benefits under the scheme.

In which about 50% of the beneficiaries will be associated with Scheduled Castes and Scheduled Tribes. 5% reservation has also been kept in this scheme for people with disabilities. A provision of Rs 50 crore has been made under this scheme with the intention of starting the first phase.

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना के बारे मैं कुछ बातें

योजना का नामबाबा साहेब अम्बेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना
किसके द्वारा शुरू की गयी उत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीगरीब मजदूर
मुख्य उद्देश्यसब्सिडी मैं लोन देना
ऑफिसियल वेबसाइट——

Manav Sampada Portal 2020

योजना के तहत स्वरोजगार के लिए ऋण किस कार्य के लिए दी जाएगी

  • कंप्यूटर की मरम्मत का काम।
  • मोबाइल मरम्मत।
  • टीवी और एलईडी की मरम्मत।
  • किराने की दुकान के लिए।
  • दूध डेयरी खोलने के लिए ऋण।

पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए ऋण किस कार्य के लिए दी जाएगी

  • ब्यूटी पार्लर।
  • मछली पालन।
  • फर्नीचर के काम के लिए ऋण

उपरोक्त सभी स्वरोजगार शुरू करने के लिए आपको सरकार द्वारा 2 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा। इस योजना में लाभार्थियों का चयन जिला अधिकारी की अध्यक्षता समिति द्वारा किया जाएगा। इस योजना के तहत आपको ऋण दिया जाएगा, जब यह समिति आपके आवेदन की पूरी तरह से जांच कर लेंगे।

लोन पर सब्सिडी के बारे में जानकारी

  • इस योजना के तहत, विकलांग / विकलांग व्यक्ति को दिए गए ऋण का 50% या अधिकतम 70000 रुपये का अनुदान दिया जाएगा।
  • अन्य श्रेणी के लाभार्थियों को ऋण पर 35% और अधिकतम। 50000 तक की सब्सिडी दी जाएगी।

इस योजना के बारे में जानकारी देते हुए, ग्राम विकास आयुक्त श्री के। रविन्द्र नायक ने कहा कि इस योजना से राज्य के प्रवासी मजदूरों को अपना स्वरोजगार शुरू करने में अत्यधिक लाभ मिलेगा। जिसके लिए उन्हें फिर से किसी अन्य राज्य में काम करने की आवश्यकता नहीं होगी। मैं अपने राज्य में स्वरोजगार करके अपने घर में रहकर अच्छी आय अर्जित कर सकता हूं।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • ऐसे प्रवासी मजदूर जो बाहरी राज्यों से आए हैं, उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • ऐसा व्यक्ति जो बेरोजगार है, वह इसके लिए आवेदन कर सकता है।
  • इसके अलावा रोजगार चाहने वाले युवा।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड।
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र।
  • बैंक खाते की जानकारी।
  • पासपोर्ट साइज फोटो।
  • आपका मोबाइल नंबर।
  • आवेदक की शैक्षिक योग्यता का दस्तावेज।

बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना सिलेक्टेड लिस्ट

S.No.Name Of BlockBaba Saheb Ambedkar Rojgar Protsahan Yojana Selected Person
1.TamkuhiSelected Persons -Block Tamkuhi
2.DudahiSelected Persons -Block Dudahi
3.SeorahiSelected Persons -Block Seorahi (PDF 2 MB) 
4.KasiaSelected Persons -Block Kasia (PDF 795 KB) 
5.FazilnagarSelected Persons -Block Fazilnagar (PDF 1 MB) 
6.HataSelected Persons -Block Hata (PDF 1 MB) 
7.MotichakSelected Persons -Block Motichak (PDF 2 MB) 
8.SukrauliSelected Persons -Block Sukrauli (PDF 1 MB) 
9.VishnupuraSelected Persons -Block Vishunpura (PDF 1 MB) 
10.PadraunaSelected Persons -Block Padrauna (PDF 2 MB) 
11.KhaddaSelected Persons -Block khadda (PDF 2 MB) 
12.Nebua NaurangiyaSelected Persons -Block Nebua Naurangiya (PDF 2 MB) 
13.CaptainganjSelected Persons -Block Captainganj (PDF 907 KB) 
14.RamkolaSelected Persons -Block Ramkola

आंबेडकर रोजगार योजना का मुख्य लाभ

  • बाबा साहेब अम्बेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना के तहत, राज्य के बेरोजगार प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिलेगा।
  • इस योजना के तहत, बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूर अपने परिवार का समर्थन करने में सक्षम होंगे।
  • कोरोना महामारी के कारण होने वाली बेरोजगारी के स्तर में वृद्धि कम होगी।
  • ऐसे लोग जो रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में जाते हैं, उनका पलायन रुकेगा।
  • इस योजना के तहत, युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना का मुख्य लाभ यह है कि युवाओं को स्वरोजगार के लिए सरकार द्वारा Rs. 2lakh तक का ऋण दिया जाएगा।
  • इसके साथ ही अनुसूचित जाति, जनजाति और विकलांगों के लिए एक अलग आरक्षण रखा गया है।
  • योजना के लिए दी गई ऋण राशि के ऊपर 30% से 50% तक की सब्सिडी दी जाएगी।
  • इस योजना से राज्य के युवाओं को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी।
  • इस योजना से आर्थिक स्थिति मजबूत होगी

UP BC Sakhi Yojana Registration

उत्तर प्रदेश अंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना आवेदन प्रक्रिया 2020

इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए, आपको नजदीकी ब्लॉक कार्यालय से संपर्क करना होगा। यहां आपको बाबा साहेब अंबेडकर रोजगार योजना आवेदन पत्र मिलेगा। इस आवेदन पत्र को जमा करने के बाद, आपके आवेदन पत्र की जांच की जाएगी।

आपके आवेदन पत्र के साथ आवश्यक दस्तावेजों का उल्लेख किया गया है, इसे संलग्न करना आवश्यक है।

जिला अधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा आपके आवेदन पत्र की जांच की जाएगी।

इस योजना के तहत आपको ऋण दिया जाएगा यदि सभी जानकारी और पात्रता सही है।

सवाल और जवाब

क्या है यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना?

दोस्तों, यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के प्रवासी मजदूरों के लिए शुरू की गई है। कारो ना महामारी के कारण, जो लोग अपने राज्य में वापस आ गए हैं, उन्हें स्वरोजगार के लिए सरकार द्वारा ऋण (ऋण) दिया जाएगा। इस योजना में, हर वर्ग का व्यक्ति आवेदन कर सकता है।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना के तहत कितना लोन दिया जाएगा?

जानकारी के अनुसार, इस योजना में स्वरोजगार के लिए 2 लाख रुपये तक का ऋण देने का प्रावधान किया गया है। यह ऋण व्यक्ति की कार्य कुशलता और स्वरोजगार को ध्यान में रखते हुए दिया जाएगा।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना में दिए गए ऋण पर कितनी सब्सिडी दी जाएगी?

सरकार इस योजना के तहत विकलांग व्यक्ति को दिए गए ऋण पर अधिकतम Rs. 70,000 रूपए तक 50% तक की सब्सिडी दी जाएगी। इसके अलावा, अन्य वर्गों को 35% अनुदान देने का प्रावधान किया गया है

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना में किस श्रेणी के लिए कितना आरक्षण रखा गया है

अनुसूचित जातियों और जनजातियों के लिए इस योजना में 50% आरक्षण दिया गया है। इसके अलावा, विकलांग व्यक्तियों के लिए 5% आरक्षण रखा गया है

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना फॉर्म डाउनलोड कहाँ से करें

इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए, आपको नजदीकी ब्लॉक कार्यालय से संपर्क करना होगा। यहां आपको बाबा साहेब अंबेडकर रोजगार योजना आवेदन पत्र मिलेगा।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना किस राज्य के द्वारा लांच किया गया हैं?

आंबेडकर रोजगार योजना उत्तर प्रदेश राज्य द्वारा लांच किया गया हैं।

यूपी बाबा साहब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना का ऑफिसियल वेबसाइट क्या हैं?

आंबेडकर रोजगार योजना की ऑफिसियल वेबसाइट अभी तक लांच नहीं की हैं।

हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी। भारतीय इतिहास के महान पुरुष श्री बाबा साहेब अम्बेडकर के नाम पर शुरू की गई इस योजना में हर वर्ग को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है। मुख्य रूप से अनुसूचित जाति और जनजाति और विकलांगों के लिए अलग से आरक्षण की सुविधा प्रदान की गई है। ताकि हर वर्ग के लोगों को इस योजना का समान लाभ मिले।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *